Coronavirus: DRDO removes police worries, makes uniforms infection-free machine GermiKlean – Coronavirus: डीआरडीओ ने पुलिस की चिंता दूर की, वर्दी को संक्रमण मुक्त करने वाली मशीन जर्मीक्लीन बनाई

144 Views
Jun 14, 2020
Coronavirus: डीआरडीओ ने पुलिस की चिंता दूर की, वर्दी को संक्रमण मुक्त करने वाली मशीन 'जर्मीक्लीन' बनाई

Coronavirus: डीआरडीओ द्वारा विकसित की गई मशीन जर्मीक्लीन.

नई दिल्ली:

Coronavirus: रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ), कोविड -19 के संक्रमण को रोकने के उद्देश्य से सुरक्षा बलों की वर्दी को अच्छी तरह से साफ करने के लिए एक समाधान लेकर आया है. दिल्ली पुलिस ने डीआरडीओ को उनकी वर्दी, बेंत, गन्ना ढाल, हेलमेट और अन्य की सफाई के लिए अपनी आवश्यकता बताई थी. डीआरडीओ ने अपने वरिष्ठ वैज्ञानिकों की टीम और अपने भागीदार सेवियर बायोटेक लिमिटेड के साथ एक ड्राई हीट ट्रीटमेंट चैंबर का विकास किया है, जिसका नाम ‘जर्मीक्लीन’ है. इसे पार्लियामेंट स्ट्रीट पुलिस स्टेशन में तैनात किया गया है.  

यह भी पढ़ें

डिफेंस इंस्टीट्यूट ऑफ फिजियोलॉजी एंड एलाइड साइंसेज (डीआईपीएएस), डीआरडीओ के लाइफ साइंसेज क्लस्टर की एक प्रमुख जीव विज्ञान प्रयोगशाला ने सभी रसद समर्थन और इस संकल्पना को अमल में लाने  के लिए समर्पित वैज्ञानिकों की एक टीम प्रदान की. मात्र तीन दिनों में डीआरडीओ के लाइफ साइंसेज के डीजी डॉक्टर एके सिंह के मार्गदर्शन में भानु प्रताप सिंह और डॉक्टर निधि संदल ने मिलकर इसे तैयार कर दिया.

जर्मीक्लीन चैंबर को 10 मिनट में 25 जोड़ी वर्दी को सेनिटाइज करने के लिए डिज़ाइन किया गया है.  इस कक्ष का कार्य क्षेत्र 1875X850X1600 मिमी है. इसका उपयोग करके बैटन, बेंत, केन शील्ड, हेलमेट या लकड़ी, स्टील से बने किसी भी प्रोडक्ट को कीटाणु मुक्त किया जा सकता है. सामान वही हो सकता है जो 70-80ºC के तापमान का सामना कर सकता हो.

चैंबर में एक हीटिंग एलिमेंट और एक उच्च दक्षता वाला ब्लोअर होता है जो पूरे चेंबर में समान रूप से गर्म हवा को प्रसारित करने के लिए हाईटेंस की स्थिति में काम कर सकता है. कक्ष को एक विद्युत पैनल का उपयोग करके संचालित करने के लिए डिज़ाइन किया गया है जिसमें समय और तापमान समायोजन की क्षमता शामिल है.  कक्ष थर्मोस्टेट के साथ सभी आवश्यक सुरक्षा सुविधाओं से सुसज्जित है जो हीटिंग को नियंत्रित करने के लिए पैनल के अंदर मौजूद हैं. चैंबर का आवरण इंसुलेटेड पैनलाइन से बना होता है जो ऑपरेटर के लिए उच्च तापमान प्रवर्तक से भौतिक अलगाव प्रदान करता है.

‘जर्मी क्लीन’ की लागत लगभग डेढ़ से दो लाख रुपये है. जर्मीक्लीन मिनी की कैबिनेट को विशेष रूप से कागजात / स्टेशनरी / छोटी वस्तुओं को साफ करने के लिए तैयार किया जा सकता है. इस इकाई को कागज प्राप्त करने वाले अनुभाग में रखा गया है और इस कक्ष में उपचार के बाद सभी कागजात वितरित किए जाते हैं. कोविड-2 तापमान के प्रति अत्यधिक संवेदनशील है. कोविड-2 पर विभिन्न तापमानों की स्थिरता का अध्ययन किया गया है और यह पाया गया है कि उच्च तापमान पर निष्क्रिय हो जाता है. 70 डिग्री सेल्सियस पर वायरस मात्र पांच मिनट में निष्क्रिय हो जाता है.

यह उत्पाद न केवल जवानों की वर्दियों को सैनिटाइज करेगा बल्कि आवासीय समिति और आरडब्ल्यूए द्वारा भी इसका उपयोग किया जाएगा. इसका उत्पादन डीआरडीओ द्वारा लॉकडाउन के दौरान दिन रात मेहनत करके किया गया है. वास्तव में इस ईजाद ने सैन्य संस्थानों में कार्यरत लोगों को एक नया अर्थ और महत्व प्रदान किया है.


Source by [author_name]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *