India-China clash: Army soldier Jai Kishores death caused chaos in his village of Bihar – चीनी सेना से झड़प में जान गंवाने वाले भारतीय जवान जय किशोर के बिहार के गांव में मचा कोहराम, देखें – तस्वीरें

139 Views
Jun 17, 2020
चीनी सेना से झड़प में जान गंवाने वाले भारतीय जवान जय किशोर के बिहार के गांव में मचा कोहराम, देखें - तस्वीरें

सेना के जवान जय किशोर के निधन पर उनकी मां का रो-रो कर बुरा हाल है.

पटना:

India-China clash: लद्दाख की गलवान घाटी में भारत-चीन सीमा पर झड़प में बिहार के भारतीय सेना के जवान जय किशोर के निधन की खबर उनके पैतृक गांव वैशाली के चकफतह गांव में पहुंचते ही कोहराम मच गया. घटना की सूचना मिलते ही गांव के लोग जय किशोर के जन्दाहा के चकफतह में सतही पैतृक आवास पर पहुंचना शुरू हो गए. घटना की सूचना मिलने पर जय किशोर की मां का रो-रो कर बुरा हाल हो गया. 

t6k124t8

यह भी पढ़ें

मृत जवान जय किशोर के पिता राज कपूर सिंह.

जय किशोर के पिता राज कपूर सिंह ने बताया कि जय किशोर शुरुआत से ही काफी प्रतिभाशाली थे.  उनमें देश के लिए कुछ कर गुजरने की प्रबल इच्छा थी. उनके बड़े भाई नंदकिशोर भी  सेना में जवान थे, जिनसे प्रेरणा लेकर ही जय किशोर ने भी भारतीय सेना में जाने का फैसला लिया. 

v9qop4cg

जय किशोर की तस्वीरों के साथ उसकी मां.

जय किशोर 2018 में भारतीय सेना में शामिल हुए थे. बिहार के दानापुर में ट्रेनिंग लेने के बाद 2019 में उनकी पोस्टिंग हुई थी. जय किशोर आखिरी बार होली पर पहले अपने गांव आए थे. उन्होंने करीब एक महीने पहले अपने घरवालों से फ़ोन पर बात की थी.  

vjmeqbhg

घटना की सूचना मिलने पर स्थानीय विधायक उमेश कुशवाहा सहित कई नेता उनके घर पर पहुंच गए. 

ekp7eik8

भारत-चीन के पूर्वी लद्दाख के गालवाना घाटी में सोमवार रात को हुई हिंसक झड़प में जान गंवाने वाले 20 भारतीय जवानों में से बिहार के समस्तीपुर जिले के मोहिउद्दीन प्रखंड के 24 साल के जांबाज अमन कुमार भी शामिल हैं. भारतीय-चीनी जवानों के बीच हुई हिंसक झड़प में देश के नाम पर अपनी जान देने वाले अमन कुमार के जाने पर उनके घर के अलावा पूरे गांव में मातमी सन्नाटा पसरा हुआ है.

समस्तीपुर जिले के मोहिउद्दीन नगर की सबसे बड़ी खासियत यह है कि यहां के युवकों में देश सेवा की भावना इतनी है कि यहां के 55 से 60 प्रतिशत युवक डिफेंस की नौकरी करते हैं. अमन कुमार जिस गांव में रहते थे उस गांव के 40 फीसद युवा डिफेंस की नौकरी में हैं और गांव के वकील अमित कुमार कहते हैं कि जब-जब देश ने लड़ाई लड़ी है तब-तब यहां के जांबाज युवक शहीद हुए हैं हैं.

बता दें कि बिहार के ही एक और जवान ने इस झड़प में अपनी जान गंवाई है. कोशी जिले के 26 साल के कुंदन कुमार की इस झड़प में जान गई है. वहीं झारखंड के साहिबगंज के कुंदन ओझा और तेलंगाना के संतोष बाबू सहित कुल 20 जवानों की जान गई है.


Source by [author_name]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *