Manish kumar writes: How seriously does the people of Bihar take Tejashwi Yadav and his apology?

140 Views
Jul 6, 2020
तेजस्वी यादव और उनके माफ़ीनामा को बिहार की जनता कितनी गंभीरता से लेती है?

तेजस्वी यादव ने RJD के 15 वर्षों के शासन के दौरान गलतियों पर माफी मांगी है

पटना:

आजकल बिहार में विपक्ष के नेता और अपनी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार तेजस्वी यादव अमूमन अपने पार्टी कार्यालय में आयोजित होने वाली हर सभा में ये वाक्य ज़रूर बोलते हैं. ‘हमने स्वीकार किया कि उन 15 सालों तेजस्वी था भी नहीं सरकार में लेकिन फिर भी अगर हमसे कोई भूल हुई होगी तो हमको माफ़ कीजिएगा. लेकिन लोग कहते हैं कि माफ़ीनामा ठीक है भाई, हम कहते हैं जिसका रीढ़ का हड्डी होता है वही झुकता है और जिसका नहीं होता हैं वो रेंगता है. 15 साल में हमसे कोई भूल चूक हुआ तो जनता हमको माफ़ करे और जनता ने हमको सजा भी दिया. 15 साल हमको विपक्ष में बैठाया. हमलोग सच बोलने वाले लोग हैं. विचारधारा के साथ समझौता नहीं किया.’

यह भी पढ़ें

निश्चित रूप से तेजस्वी यादव का ये बयान उनकी सोची समझी राजनीति का हिस्सा हैं. 15 वर्ष पूर्व बिहार की सत्ता से बेदख़ल होने के बाद अपनी पार्टी की तरफ़ से इतने बेबाक़ होकर इस बात को स्वीकार करने वाले वो पहले नेता हैं. लेकिन अब सवाल है कि जनता में इसका क्या असर है और आने वाले चुनावों में क्या जो वोटर राजद का साथ छोड़ कर गये हैं, वो उनकी इन बातों के आधार पर घर वापसी करेंगे?

lj6576q

इन सवालों का जवाब जानने के लिए आज के राजद और जब बिहार की सत्ता में इनका राज था, उस समय के सामाजिक माहौल को जानना बहुत ज़रूरी है. पहले आज का राष्ट्रीय जनता दल जिसने रविवार को अपने स्थापना के 23 वर्ष पूरे किए. लेकिन इस स्थापना दिवस पर अख़बारों में जो विज्ञापन आया वो भागलपुर के एक युवा नेता अनिकेत यादव के नाम से आया और उसमें उन्होंने तेजस्वी से भी बड़ा अपने चेहरे का फ़ोटो लगवाया था.

मनीष कुमार NDTV इंडिया में एक्ज़ीक्यूटिव एडिटर हैं…

डिस्क्लेमर (अस्वीकरण) : इस आलेख में व्यक्त किए गए विचार लेखक के निजी विचार हैं. इस आलेख में दी गई किसी भी सूचना की सटीकता, संपूर्णता, व्यावहारिकता अथवा सच्चाई के प्रति NDTV उत्तरदायी नहीं है. इस आलेख में सभी सूचनाएं ज्यों की त्यों प्रस्तुत की गई हैं. इस आलेख में दी गई कोई भी सूचना अथवा तथ्य अथवा व्यक्त किए गए विचार NDTV के नहीं हैं, तथा NDTV उनके लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं है.


Source by [author_name]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *