over 1,000 imported products delisted from paramilitary canteen – पैरामिलिट्री कैंटीन से लगभग 1000 गैर स्‍वदेशी उत्‍पादों को हटाया गया….

168 Views
Jun 1, 2020
पैरामिलिट्री कैंटीन से लगभग 1000 गैर स्‍वदेशी उत्‍पादों को हटाया गया....

पैरामिलिट्री कैंटीन की बिक्री सालाना लगभग 2,800 करोड़ रुपये है

नई दिल्ली:

पूरे देश में अर्धसैनिक बलों (Paramilitary Canteens) की कैंटीन में आज से 1,000 से अधिक आयातित उत्पाद उपलब्ध नहीं होंगे क्योंकि इन कैंटीनों में अब केवल “मेड इन इंडिया” उत्पाद ही बेचने का निर्णय लिया गया है. पिछले महीने सरकार की ओर से फैसला किया गया था कि स्‍वदेशी को बढ़ावा देने के लिए अर्धसैनिक बलों की कैंटीन 1 जून से स्वदेशी या भारतीय उत्पाद बेचेंगे. अर्धसैनिक बलों की कैंटीन में अब उपलब्ध नहीं होने वाले उत्पादों/ब्रांडों में न्यूट्रीला, किंडर जॉय, हॉर्लिक्स ओट्स, यूरेका फोर्ब्स, टॉमी हिलफिगर शर्ट और एडिडास बॉडी स्‍प्रे आदि शामिल हैं. माइक्रोवेव ओवन और कुछ अन्य घरेलू उपकरणों के कुछ ब्रांड भी आज से यहां उपलब्ध नहीं होंगे. कैटेगरी-1 में शुद्ध रूप से भारत में निर्मित उत्पाद शामिल हैं जबकि कैटेगरी-2 में आयातित कच्चे माल वाले उत्पाद शामिल हैं लेकिन यह भारत में निर्मित या असेंबल किए जाते हैं. तीसरी कैटेगरी में “विशुद्ध रूप से आयातित उत्पाद” होते हैं.

यह भी पढ़ें

इसके साथ ही पेरेंट बॉडी ने उन कंपनियों के उत्पादों को भी बंद कर दिया है, जिन्होंने उनके द्वारा मांगी गई जानकारी प्रदान नहीं की है. गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से पिछले माह अपने संबोधन में आत्‍मनिर्भर भारत पर जोर दिए जाने के बाद अर्धसैनिक बलों की कैंटीन में पिछले साल के केवल  “मेड इन इंडिया” उत्पादों को बेचने का निर्णय लिया गया था. कोरोना वायरस के आर्थिक प्रभाव से निपटने के लिए पीएम की ओर से बड़े आर्थिक पैकेज की घोषणा भी की गई है. हालांकि अर्धसैनिक बलों की कैंटीन में खरीदारी करने वाले 60-70 प्रतिशत लोग जरूरी सामान ही खरीदते हैं. एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार, “कैंटीन मुख्‍यत: निचले और ऊपरी स्तर के सामान उपलब्‍ध कराती थी लेकिन लेकिन इस फैसले का असर बाकी 30-40 प्रतिशत पर भी होगा.”

पैरामिलिट्री कैंटीन की बिक्री सालाना लगभग 2,800 करोड़ रुपये है, सेंट्रल ऑर्म्‍ड पुलिस फोर्स (CAPF) में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ), सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ), केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ), भारत तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी), सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी), राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (एनएसजी) और असम राइफल्‍स शामिल हैं.

VIDEO: 1 हफ्ते के लिए सील होगी दिल्ली की बॉर्डर : CM अरविंद केजरीवाल


Source by [author_name]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *